top of page

आगामी अंक 

आगामी अंक – ‘समीचीन’ का आगामी जनवरी-मार्च 2024  अंक

(यू.जी.सी. केयर लिस्टेड एवं विद्वत परीक्षक-मण्डल द्वारा अनुमोदित)
 

‘समीचीन' साहित्य, समाज, संस्कृति और राजनीति के खुले मंच की एक अव्यावसायिक, यू.जी.सी. केयर लिस्टेड एवं विद्वत परीक्षक-मण्डल द्वारा अनुमोदित सहित्यिक शोध-पत्रिका है, जिसका प्रकाशन प्रसिद्ध कथाकार-समीक्षक डॉ. देवेश ठाकुर के संपादन में सन् 1984 से लगातार होता आ रहा है। वर्तमान में इसका सम्पादन डॉ. सतीश पांडेय कर रहे हैं।   

इसका जनवरी-मार्च 2024  का अंक शीघ्र ही प्रकाशित होगा। इस अंक हेतु आपके शोध-आलेख / समीक्षाएँ आमंत्रित हैं। आलेख भेजने कुछ आवश्यक निर्देश इस प्रकार हैं। 

  • आप अपनी रचनाएँ हिन्दी यूनीकोड में 12 फॉण्ट साइज़ में ही टंकण किया हुआ भेजें। किसी अन्य फॉण्ट में रचनाएँ स्वीकार नहीं की जायेगी।

  • रचनाएँ वर्ड फ़ाइल में पत्रिका के ईमेल आई. डी. sameecheen@gmail.com पर ही भेजें। 

  • शोध-आलेख निम्न प्रारूप में ही भेजें: 

    • शोध आलेख का विषय, अपना नाम, आलेख के अंत में विभाग  का नाम, संस्थान का नाम अथवा पता, ई-मेल एवं मोबाइल नंबर। 

    • संदर्भ-सूची में लेखक का उपनाम, नाम, पुस्तक का नाम, प्रकाशक का नाम, प्रकाशन का स्थान, प्रकाशन-वर्ष और अंत में  पृष्ठ संख्या अवश्य लिखें । 

    • रचनाएँ पूर्णत: मौलिक एवं अप्रकाशित होनी चाहिए। पूर्व प्रकाशित रचना यदि प्रकाशित हो जाती हैं तो उसका पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का होगा।

    • रचना के अप्रकाशित और मौलिक होने की वचनबद्धता का एक प्रमाणपत्र रचना के साथ अवश्य भेजें।

    • किसी अन्य फॉण्ट में स्कैन किया हुआ, पीडीएफ अथवा मेल बॉक्स में कॉपी पेस्ट कर भेजी गयी रचना किसी भी स्थिति में स्वीकार नहीं की जायेगी । उसके लिए अलग से कोई प्रतिउत्तर भी नहीं दिया जायेगा।

    • यदि शोध-आलेख एवं भेजी गयी रचना कॉपीराईट का उल्लंघन करती है अथवा किसी अन्य रचना या पूर्व प्रकाशित रचना का कोई अंश बिना प्रकाशक एवं लेखक की पूर्वानुमति के प्रकाशित हो जाता है तो उसका पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक एवं रचनाकार का होगा । संपादक परोक्ष या अपरोक्ष रूप से इसके लिए उत्तरदायी नहीं होगा।

    • कृपया शोध-आलेख भेजने के पूर्व यह सुनिश्चित कर लें कि उसमें  व्याकरण एवं मात्राओं की अशुद्धियाँ किसी भी स्थिति न हों ।

    • शोध-पत्र की सामग्री कहीं से चोरी की गयी (plagiarism) नहीं होनी चाहिए । 

    • अपना आलेख 30 जनवरी 2024 तक  sameecheen@gmail.com पर भेज दें। उसके बाद आलेख स्वीकृत नहीं किया जाएगा।

    • आपके आलेख की स्वीकृति / अस्वीकृति की जानकारी आपको ई-मेल द्वारा भेज दी जायेगी।

    • पत्रिका अव्यावसायिक तौर पर प्रकाशित होती है। अत: सुधी जनों से रचनात्मक सहयोग के साथ-साथ आर्थिक सहयोग की भी अपेक्षा है।

    • अन्य जानकारी हेतु हमारे वेबसाइट sameecheen.com पर देखें।  

    • जो साहित्य प्रेमी पत्रिका के सदस्य बन रहे हैं, वे सीधे  पैसा भरने के बाद रसीद, अपना नाम व पता अवश्य भेज दें ताकि हम आपको पत्रिका भेज सकें

    • पत्रिका की सदस्यता लेना आलेख छपने की सुनिश्चितता न समझें। इसका निर्णय विद्वत परीक्षक मण्डल और संपादकीय विभाग लेगा |

संपर्क : संपादक -डॉ. सतीश पांडेय  : 8928189656  |संयुक्त संपादक- डॉ. प्रवीण चंद्र बिष्ट  : 9920287304

bottom of page